महिला विधायक ने उठाया औद्योगिक क्षेत्र में प्रदूषण का मामला, मंत्री ने दिया ये जवाब...

भीमा मंडावी की मौत का मामला सदन में गरमाया, गृहमंत्री ने दी ये जानकारी..

Raipur

रायपुर। विधानसभा में सोमवार को भीमा मंडावी की नक्सली हमले में हुई मौत का मामला गरमाया रहा। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि भीमा मंडावी को Z श्रेणी की सुरक्षा दी गई थी। यही नहीं हर सूचना पर अतिरिक्त सुरक्षा दी गई है। उनके परिवार को सम्पूर्ण सुरक्षा प्रदान की जा रही है। भाजपा विधायकों के सवालों के जवाब में गृह मंत्री साहू ने कहा कि भीमा मंडावी घटना के दिन बुलेटप्रूफ गाड़ी, 2 स्काट, 49 डीआरजी के साथ रवाना हुए। साथ में 18 सुरक्षाबल कटेकल्याण के भी शामिल थे। प्रचार के बाद भीमा मंडावी ने डीआरजी और अतिरिक्त बल को वापस लौटा दिया। 2 स्काट वाहन 10 सुरक्षाबलों के भीमा मंडावी गए थे। उनके साथ 83 सशस्त्र बल के जवान भी थे। भीमा मंडावी 02.10 बजे किरन्दुल पहुंचे। 03.30 बजे बचेली के लिए रवाना हुए। यहां से वे अचानक श्यामगिरी की ओर निकल गए। बचेली थाना प्रभारी ने 3.50 में ROP नहीं होने की बात कहते हुए उस रोड में न जाने की बात कही। फिर भी वे गए और ब्लास्ट हुआ।

Share this: