यहां व्यापारियों का एक गु्रप पांच रुपए में खिला रहा है खाना

यहां व्यापारियों का एक गु्रप पांच रुपए में खिला रहा है खाना: पढ़े पूरी खबर

Uncategorized

एक साल पूरे होने पर कल इनके मेनू में रहेगा यह खास
भिलाई।
शहर के व्यापारियों का एक ग्रुप एक साल से सुपेला में गरीबों व जरूरत मंदों को केवल पांच रुपए में भोजन करा रहा है। प्रत्येक रविवार को सुपेला घड़ी चौक से कुछ दूर एयू बैंक के सामने मम्मा की रसोई के नाम से भोजन परोस रहा है। आते जाते राहगीरों से लेकर भीख मांगने वाले गरीब, ऑटो व रिक्शा चालक व मजदूर यहां भोजन करते हैं। खासबात यह है कि मम्मा की रसोई में आने वाले ऐसे लोग जिनके पास पांच रुपए भी नहीं होता उन्हें नि:शुल्क भोजन देते हैं।
शहर में यह पुनित कार्य करने वाली टीम में रुबिंदर सिंह, कमलेन्द्र मिश्रा, अमरेश सिंह, संदीप साहू, विश्वजीत दास आदि शामिल हैं। मम्मा की रसोई रविवार 2 जून को पूरे एक वर्ष पूरा कर रहा है। इस मौके को खास बनाने के लिए रविवार को यहां विशेष मेनू परोसा जाएगा। टीम मेंबर रुबिंदर सिंह ने बताया कि पहली वर्षगांठ के मौके पर मीनू में जीरा राइस, मटर पनीर की सब्जी, सलाद, छाछ व गुलाब जामुन परोसा जाएगा।
मिल रहा है संस्थाओं का सहयोग
मम्मा की रसोई को लेकर रुबिंदर सिंह का कहना है कि 3 जून 2018 को सुपेला से इसे शुरू किया गया। इसके पीछे एक ही मकसद है कि गरीबों व जरूरत मंदों को भोजन मिल जाए। हमारे प्रयास को कुछ सामाजिक संस्थाओं का सहयोग भी मिल रहा है। जो आर्थिक रूप से सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा है मम्मा की रसोई में पांच रुपए भी उन्ही से लिया जाता है जो देने लायक हैं। दोपहर लगभग एक बजे से शुरू कर लगभग 3 से 4 बजे तक लोगों को खाना खिलाते हैं। इसके अलावा मम्मा की रसोई टीम द्वारा आर्टिफिसियल हैंडस भी नि.शुल्क देती है। ऐसे लोग जिनके हैंडस नहीं है उनके लिए 15 दिनों का प्रशिक्षण देकर यह आर्टिफिसियल हैंडस देते हैं।

Share this: