दो दिन में ही धराया आकाश गंगा सुपेला के पारख ज्चेलर्स में चोरी का आरोपी, ब्यूटी पार्लर खोलने की थी योजना

दो दिन में ही धराया आकाश गंगा सुपेला के पारख ज्चेलर्स में चोरी का आरोपी, ब्यूटी पार्लर खोलने की थी योजना

Twin City

1.50 लाख रुपए सहित 3 करोड़ रुपए के जेवर बरामद, आईजी विवेकानंद सिन्हा ने दी पूरी टीम को बधाई

भिलाई। आकाश गंगा सुपेला स्थित पारख ज्वेलर्स मेें सेंधमारी कर चोरी की वारदात का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। आरोपी को गिरफ्तार कर पुलिस ने 3 करोड़ के जेवरात व नगदी 1.50 लाख रुपए बरामद किया है। आरोपी ज्वेलरी दुकान से चोरी किए गए जेवर व नगदी कहीं भी खपा नहीं पाया। आरोपी आदतन अपराधी है और पहले भी चोरी की कई वारदातों को अंजाम दे चुका है। हाल ही में उसने तीन दर्शन मंदिर के सामने स्थित बजाज शोरूम में भी लाखों की चोरी की थी। आरोपी चोरी के जेवर बेचकर ब्यूटी पार्लर खोलने की योजना बना रहा था। इसके लिए उसने मिनाक्षी ब्यूटी पार्लस से 6 माह की ट्रेनिंग भी ली थी।

मामले का खुलासा करते हुए आईजी विवेकानंद सिन्हा व एसपी अजय यादव ने बताया कि 11 फरवरी की रात को पारख ज्वेलर्स में चोरी की घटना के बाद पुलिस की 6 टीमों ने लगातार सर्च किया और आरोपी तक पहुंची। आरोपी को पकडऩे में लोहा काटने वाला ब्लेड मददगार साबित हुआ जिसकी मदद से आरोपी तक पहुंची। आईजी सिन्हां ने बताया कि आरोपी का नाम लोकेश श्रीवास है और और आदतन चोर है। शातिराना अंदाज से सेंधमारी कर चोरी की वारदात को अंजाम देने वाला आरोपी लोकेश श्रीवास कैलाश नगर कवर्धा का निवासी है। इसका ससुराल राधिका नगर सुपेला में है इसने पूर्व मे भी सुपेला व छावनी थाना क्षेत्र में चोरी की वारदात को अंजाम दिया है महज दो दिनों में ही पुलिस ने इस केस का खुलासा कर दिया है।

ऐसे दिया था वारदात को अंजाम

आईजी सिन्हा ने बताया कि आरोपी लोकेश श्रीवास ने चोरी के पहले पूरे 20 दिनों तक रेकी थी। पारख ज्वेलर्स की दुकान में प्रवेश करने के लिए इसके बगल में बन रही नई दुकान का सहारा लिया। मंगलवार को आकाश गंगा की दुकाने बंद रहती हैं इसलिए चोरी के लिए आरोपी ने इस दिन को चुना। आईजी सिन्हा ने बताया कि आरोपी लोकेश मंगलवार की दोपहर को पारख ज्वेलर्स के साथ वाली निर्माणाधीन मकान में घुस कर चैली के सहारे छत पर पहुंचा। यहां से सीड़ी लगाकर पारख ज्वेलर्स की छत पर पहुंचा। यहां पहुंचकर लोहे की रॉड से दीवार फोड़कर लिफ्ट के रास्ते दुकान में दाखिल हुआ। ग्राइंडर मशीन से लॉकर को काटकर सोने के जेवर चुरा छत के रास्ते से ही भाग गया।

लोहा काटने वाला ब्लेड बना अहम सुराग

आईजी सिन्हां ने बताया कि चोरी के बाद पुलिस को शुरुआती जांच में लॉकर क ेपास एक लोहा काटने का ब्लेड मिला। यह वैसा ही था जैसा कि कुछ माह पूर्व एवीएन बजाज में हुआ था। एवीएन बजाज में भी लॉकर काटने के लिए इसी तरह के ब्लेड का इस्तेमाल किया गया था। इस मामले में पुलिस ने लोकेश श्रीवास को पूर्व में गिरफ्तार किया था। इसी आधार पर लोकेश की पता साजी की गई तो जानकारी मिली लोकेश जेल से छूट गया और सुपेला क्षेत्र में देखा गया। इसी आधार पर लोकेश की तलाश की गई। इतनी मात्रा में सोने के जेवर चुराने के बाद वह खपाने का प्रयास करता रहा लेकिन पुलिस की जोरदार नाकाबंदी के कारण वह ऐसा नहीं कर पाया और चोरी जेवर व नगदी के साथ रैन बसेरा में छिपा था। पुलिस ने आरोपी को रैन बसेरा से गिरफ्तार किया।

केस सुलझाने में इनकी रही सराहनीय भूमिका

केस सुलझाने में निरीक्षक गोपला वैश्य, भूषण एक्का, गौरव तिवारी, जितेन्द्र वर्मा, बृजेश कुशवाह, राकेश नरबरे, उपनिरीक्षक राजेन्द्र कंवर, सउनि पूर्ण बहादुर, राजेश पाण्डेय, अजय सिंह, राधेलाल वर्मा, प्र.आर. चंद्रशेखर बंजीर, परस सिन्हा, मुरलीधर कश्यप, सगीर खान, अशोक साहू, सुरेश बनाफर, आर.क्र. 1089 निखिल साहू, विक्रंात कुमार, डीकेश सिन्हा, सूरज पाण्डेय, जावेद खान, पन्ने लाल, अनूप शर्मा, संतोष गुप्ता, फारूख खान, उपेन्द्र यादव, भावेश पटेल, जगजीत सिंह, रितेश अग्निहोत्री, धर्मराज सिंह, उपेन्द्र सिंह, सत्येन्द्र मढरिया, रिंकु सोनी, अनिल सिंह, बी वीर नारायण, हरीश सिंह, मोह. शमीम, अरविन्द्र मिश्रा, जुगनू सिंह, अनुप शर्मा, काशीबरेठ, प्रशांत शुक्ला आदि की सराहनीय भूमिका रही। आईजी विवेकानंद सिन्हा व एसपी अजय यादव ने पूरी टीम को बधाई दी।

Share this: