प्रदेश में यहां दो डेयरी, एक फिशरीज पालीटेक्निक कॉलेज खोलने की तैयारी: पढ़े पूरी खबर

Raipur


रायपुर। छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय अंजोरा (दुर्ग) के लिए नया वर्ष सौगात लेकर आया है। यहां एक फिशरीज और दो डेयरी पॉलीटेक्निक कॉलेज को शासन से स्वीकृति मिलने की चर्चा है। विभागीय सूत्रों की मानें तो सोमवार को कृषि वित्तीय वर्ष 2020-21 की बैठक में यह जानकारी दी गई। प्रत्येक कॉलेज के लिए छह से आठ करोड़ स्र्पये का बजट स्वीकृत कर दिया गया। 30 सीटों पर दाखिले के साथ यह नए सत्र से शुरू हो सकता है। राजपुर (धमधा दुर्ग) में फिशरीज पॉलीटेक्निक शुरू करने के प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया गया था, लेकिन बजट के अभाव में अटका था। इसके साथ तखतपुर (बिलासपुर) और बेमेतरा में डेयरी पॉलीटेक्निक कॉलेज पर आगामी बजट में मुहर लग सकती है। ज्ञात हो कि प्रदेश में अभी तक एक भी फिशरीज, डेयरी पॉलीटेक्निक कॉलेज नहीं है। इससे छात्रों को डिप्लोमा की पढ़ाई के लिए अन्य राज्यों में जाना पड़ता है।

छात्रों को देगा रोजगार

तीन पॉलीटेक्निक कॉलेज खोलने को लेकर लंबे समय से विश्वविद्यालय में चर्चा थी, लेकिन प्रस्ताव ठंडे बस्ते में थे। प्रदेश में डेयरी उद्योग के क्षेत्र में जिस प्रकार से मैनपावर की मांग बढ़ी है, उसकी तुलना में डिप्लोमा पाठ्यक्रम को लेकर प्रदेश भर कोई संस्थान नहीं है।
ऐसे में छग कामधेनु विवि के नए कुलपति डॉ. एनपी दक्षिणकर के सामने डिप्लोमा में पाठ्यक्रम शुरू करने का चैलेंज था। नए डेयरी, फिशरीज डिप्लोमा कॉलेज स्थानीय छात्रों को रोजगार दिलाने में काफी उपयोगी साबित होंगे।

Share this: