सड़क सुरक्षा सप्ताह: दुर्ग पुलिस ने एक साथ 100 शैक्षणिक संस्थाओं में दिया यातायात प्रशिक्षण

सड़क सुरक्षा सप्ताह: दुर्ग पुलिस ने एक साथ 100 शैक्षणिक संस्थाओं में दिया यातायात प्रशिक्षण

Twin City

भिलाई। सड़क सुरक्षा सप्ताह के छठे दिन जिला पुलिस व यातायात पुलिस के अधिकारियों ने एक साथ 100 शैक्षणिक संस्थानों में यातायात नियमों का प्रशिक्षण दिया। इस दौरान दुर्ग रेंज के आईजी विवेकानंद सिन्हा व एसपी अजय यादव सहित तमाम बड़े व छोटे अधिकारियों ने स्कूल व कॉलेज का विजिट किया। आईजी विवेकानंद सिन्हा ने जहां बीआईटी दुर्ग में यातायात का प्रशिक्षण दिया वहीं एसपी अजय यादव ने कल्याण कॉलेज के छात्र छात्राओं को यातायात नियमों से अवगत कराया। इसके अलावा एएसपी यातायात बलराम हिरवानी ने अपोलो कॉलेज अंजोरा, एएसपी सिटी रोहित झा ने सुराना कॉलेज दुर्ग, एएसपी ग्रामीण लखन पटले ने रावतपुरा कॉलेज कुम्हारी व एएसपी आईयूसीएडब्ल्यू प्रज्ञा मेश्राम ने महिला कॉलेज सेक्टर -9 में छात्र-छात्राओं को प्रशिक्षण दिया।

उल्लेखनीय है कि इन दिनों जिले में सड़क सुरक्षा सप्ताह चल रहा है। लोगों को यातायात के प्रति जागरूक करने जिला पुलिस व यातायात विभाग द्वारा विभिन्न प्रकार के इवेंट के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जा रहा है। विगत पांच दिनों में सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान यातायात पुलिस द्वारा अलग अलग चौक चौराहों पर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। नेहरू नगर गुरुद्वारा तिराहे के पास सड़क सुरक्षा को लेकर एक प्रदर्शनी लगाई गई है जहां रोजाना बड़ी संख्या में लोग पहुंचकर नियमों की जानकारी ले रहे हैं। इसी कड़ी में आज स्कूल व कॉलेज के छात्र-छात्राओं को जागरूक करने के लिए दुर्ग भिलाई के 100 शैक्षणिक संस्थानों में यातायात नियमों के पालन का प्रशिक्षण दिया गया।

लोग जागरुक हों इसके लिए है प्रयास

प्रशिक्षण के बाद चर्चा करते हुए एसपी अजय यादव ने कहा कि सड़क सुरक्षा सप्ताह का उद्देश्य लोगों को नियमों के प्रति जागरूक करना है। इस बार हमने हर वर्ग को फोकस करते हुए कार्यक्रम बनाया है। एसपी अजय यादव ने कहा कि सड़क सुरक्षा बेहद ही महत्वपूर्ण विषय है। अक्सर देखा गया है कि नियमों की अनदेखी के कारण ही दुर्घटनाएं हो रही है। वाहन चलाने वाला यदि नियमों की अनदेखी करता है तो उसके पीछे बैठे व्यक्ति को इसका नुकसान उठाना पड़ता है। इसलिए हमेशा वाहन चलाते समय नियमों का पालन करना चाहिए। बीआईटी दुर्ग में प्रशिक्षण के दौरान आईजी विवेकानंद सिन्हा ने कहा कि सुरक्षित सफर के लिए यातायात नियमों का पानल करना जरूरी ही नहीं बल्कि हमारी सामाजिक जिम्मेदारी है। नियमों की अनदेखी से होने वाली दुर्घटना में केवल एक व्यक्ति नहीं बल्कि उसका पूरा परिवार प्रभावित होता है।

Share this: