कार्टोसैट-3: पाकिस्तान पर बाज की नजर रखेगा यह सैटेलाइट: जाने यह कब होगा लॉंच

कार्टोसैट-3: पाकिस्तान पर बाज की नजर रखेगा यह सैटेलाइट: जाने यह कब होगा लॉंच

National

बैंगलुरू। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) पीएसएलवी-सी 47 रॉकेट के जरिए 27 नवंबर को कार्टोसैट-3 को प्रक्षेपित करेगा। पहले इसे 25 नवंबर को लॉन्च करने के लिए शेड्यूल किया गया था। लेकिन अज्ञात कारणों से इसरो ने इसकी लॉन्चिंग की तिथि में बदलाव किया है।

कार्टोसैट-3 को 27 नवंबर को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से सुबह नौ बजकर 28 मिनट पर लॉन्च किया जाएगा। इसके साथ 13 अमेरिकी सैटेलाइट भी होंगे। इसरो के अनुसार 13 अमेरिकी नैनोसैटेलाइट लॉन्च करने की डील पर पहले ही हाल ही में बनाई गई व्यवसायिक शाखा न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड ने की थी।

कार्टोसैट-3 को 509 किलोमीटर ऑर्बिट में स्थापित किया जाएगा। स्पेसफ्लाइट के अनुसार इसरो दो और सर्विलांस सैटेलाइट- रीसैट-2बीआर1 और रीसैट-2बीआर2 को पीएसएलवीसी 48 और सी 49 रॉकेट के जरिए श्रीहरिकोटा से दिसंबर में लॉन्च किया जाएगा।

सूत्रों के अनुसार, इस सैटेलाइट का प्रयोग खुफिया जानकारी जुटाने और सीमा पर चौकसी बनाने के लिए किया जाएगा। कहा जाता है कि पाकिस्तान में किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के लिए कार्टोसैट-1 और 2 उपग्रहों से खुफिया जानकारी जुटाई गई थी। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई थी।

कार्टोसैट उपग्रह से किसी भी मौसम में धरती की तस्वीरें ली जा सकती हैं। इसके जरिए आसमान से दिन और रात दोनों समय जमीन से एक फीट की ऊंचाई तक की साफ तस्वीरें ली जा सकती हैं।

कार्टोसैट-3 का कैमरा इतना ताकतवर है कि वह अंतरिक्ष से जमीन पर 0.25 मीटर यानी 9.84 इंच की ऊंचाई तक की स्पष्ट तस्वीरें ले सकता है। जबकि अमेरिका की निजी स्पेस कंपनी डिजिटल ग्लोब का जियोआई-1 सैटेलाइट 16.14 इंच की ऊंचाई तक की तस्वीरें ही ले सकता है।

Share this: