आवारा कुत्तों का आतंक, 600 लोगों को बनाया शिकार

आवारा कुत्तों का आतंक, 600 लोगों को बनाया शिकार

National

नीमच। यदि आप इस शहर में जा रहे हैं, तो हो जाइये सावधान, यहां कुत्ते 600 लोगों को बना चुके हैं अपना शिकार। मालवा का पेरिस कहा जाने वाला नीमच इन दिनों कुत्तो के आतंक से दहशत में है। हालात इतने बिगड़ चुके है की बाहर से नीमच आने वालो ने शहर में आने से परहेज़ पाल लिया है। क्योंकि अब तक इस शहर में 600 लोग कुत्तों के काटे जाने का शिकार हो चुके हैं।
नीमच निवासी मनीष सोनी की 8 वर्षीय बेटी जब बुधवार को अपने घर के आँगन में खेल रही थी, तभी दो कुत्तो ने उस पर हमला कर दिया और उसका जबड़ा फाड़ दिया। वो तो गनीमत रही वहा मौजूद कुछ महिलाओं ने उसे छुड़ा लिया वरना उसकी जान जा सकती थी। मनीष सोनी ने कहा हम दहशत में है, लेकिन अपनी फ़रियाद किस्से करे।

शहर के बालकृष्ण मिश्रा का कहना है की कुत्तों का भारी आतंक शहर में है हर एक गली मोहल्ले में दर्जनों के झुण्ड में कुत्ते घूमते है जो आने जाने वालो पर भोकने के साथ ही उन पर झपटते भी है नीमच में कुत्तों के डर से अब हमारे रिश्तेदार तक यहां आने से कतराने लगे है।

इस पूरे मामले में आरटीआई कार्यकर्ता परमजीत फौजी कहते हैं, जिला अस्पताल में डॉग बाईट के इंजेक्शन समय पर नहीं लग रहे जिसके कारण लोगों को मुश्किल आ रही है। वही एक ज़माना था जो शहर अपनी खूबसूरती और साफ़ सफाई के लिए मालवा का पेरिस माना जाता था आज वह शहर कुत्तों के आतंक के कारण जाना जाता है।

इस सम्बन्ध में जिला अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर डॉ.मनीष यादव के अनुसार पिछले 10 माह में 600 लोग कुत्तो के काटे का शिकार हुए है। डॉ.यादव कहते हैं कि पिछले कुछ महीनो में डॉग बाईट के मामले बढ़े है, जो चिंताजनक है। हमारे यहां आने वाले कुत्तो के शिकार लोगों को हम पूरा इलाज दे रहे हैं। यही नहीं, हम नगर पालिका के अधिकारियों को भी इससे अवगत करवा चुके हैं।

Share this: