SECL ने दिया 10 हजार करोड़ का टैक्स, सरकार को हुआ नुकसान, पढ़ें ये खबर

SECL ने दिया 10 हजार करोड़ का टैक्स, सरकार को हुआ नुकसान, पढ़ें ये खबर

Bilaspur

बिलासपुर। जीएसटी लागू होने के बाद प्रदेश सरकार को टैक्स के रूप में मिलने वाले राजस्व का बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है। इस आंकड़ें के मुताबिक पिछले दो सालों में सरकार को लगभघ 6 हजार करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा है। वहीं टैक्स देने के मामले में प्रदेश की सबसे बड़ी कंपनी एसईसीएल ने दो सालों में 10 हजार करोड़ रूपए का टैक्स दिया है। जिसकी वजह से प्रदेश सरकार को बड़ा नुकसान हुआ है।

दरअसल यह पूरा टैक्स केन्द्र सरकार के हिस्से में चला गया है। छत्तीसगढ़ को एक रुपए का भी टैक्स नहीं मिला है जबकि जीएसटी लागू होने से पहले वैट अधिनियम के तहत हर साल करीब 1200 करोड़ रुपए प्रदेश को मिलते थे। अब राज्य के अधिकारियों की मांग पर केन्द्र सरकार सेस के माध्यम से भरपाई की बात कर रही है। जीएसटी एक जुलाई 2017 से लागू हो गया है। इसी के तहत कंपनियों अैार बड़े संस्थानों द्वारा टैक्स जमा किया जा रहा है।

सहायक कर आयुक्त टीएल ध्रुव के मुताबिक जीएसटी में प्रावधान है कि राज्य को टैक्स के रूप में जो भी नुकसान होगा, उसकी भरपाई सेस से की जाएगी। जीएसटी के अधिकारियों के मुताबिक प्रदेश में 2 करोड़ से कम टर्नओवर वाले 95 फीसदी व्यापारी हैं इनसे ही 3 फीसदी टैक्स मिलता है। यदि इनके लिए टैक्स प्रक्रिया सरल की जाती है तो शासन को राजस्व हानि न के बराबर होगी।

Share this: