क्या आप जानते हैं हमारा रेलवे यात्रियों को देता 25 से 100 फीसदी तक की छूट: जाने क्या है छूट की पात्रता और नियम

क्या आप जानते हैं हमारा रेलवे यात्रियों को देता 25 से 100 फीसदी तक की छूट: जाने क्या है छूट की पात्रता और नियम

Twin City

भिलाई। दक्षिण पूर्व मध्य रेल्वे द्वारा अनेक यात्री सुविधाओं के साथ यात्रियों को पात्रता व नियमों के मुताबिक यात्रा के दौरान कई प्रकार की रियायतें दी जा रही है। यात्रियों को रेल यात्रा में 25 फीसदी से लेकर 100 फीसदी तक की छूट दी जा रही है जिसके लिए पात्रता नियम बनाए गए हैं। कई बार ऐसा होता है कि पात्रता होने के बाद भी आम लोग इन विशेष रियायतों का लाभ नहीं ले पाते हैं।
यात्रियों को किसी भी प्राकार की रियायतें ट्रेन में यात्रा के लिए स्टेशन के काउंटर से टिकट खरीदी के समय ही दी जाती हैं। यात्रा के दौरान किसी प्रकार की रियायत नहीं मिलती। इन रियायतों में ट्रेन पर यात्रा करने के लिए 25 फीसदी से लेकर 100 तक की छूट दी जा रही है। तो आइए जानते हैं रेलवे पात्रता के मुताबिक किन यात्रियों को रियायते देता हैं।

आर्थोपेडिक रूप से दिव्यांग व पैराप्लेजिक व्यक्ति जो किसी भी उद्देश्य के लिए एस्कॉर्ट के बिना यात्रा नहीं कर सकते हैं

  • 75 फीसदी द्वितीय श्रेणी, शयनयान, प्रथम श्रेणी, 3 एसी, एसी चेयरकार
  • 50 फीसदी एसी-1 एवं एसी-2 में.
  • 25 फीसदी एसी -3 एवं एसी चेयरकार (राजधानी एवं शताब्दी) में
  • 50 फीसदी एमएसटी में.
  • इनके साथ एक एस्कार्ट भी रियायत के पात्र हैं।

मानसिक रूप से विक्षिप्त व्यक्ति जो बिना किसी प्रयोजन के एस्कॉर्ट के बिना यात्रा नहीं कर सकते। दृष्टि क्षीणता से ग्रसित व्यक्ति जो किसी भी उद्देश्य के लिए अकेले या एस्कार्ट के साथ यात्रा कर रहे हों। पूरी तरह से बोलने एवं सुनने में अक्षम जो किसी भी उद्देश्य के लिए अकेले या एस्कार्ट के साथ यात्रा कर रहे हों।

  • 50 फीसदी एसी-2, शयनयान एवं प्रथम श्रेणी में
  • 50 फीसदी एमएसटी में
  • एक एस्कार्ट भी रियायत के पात्र हैं।

कैंसर रोगी अकेले या उपचार के लिए एस्कॉर्ट के साथ यात्रा कर रहा है।

  • 75 फीसदी एसी-2, प्रथम श्रेणी एवं चेयर कार
  • 100 फीसदी एसी-3, शयनयान श्रेणी में
  • 50 फीसदी एसी-1 एवं एसी-2 में

थैलेसीमिया रोगी अकेले या उपचार, आवधिक जांच के लिए एस्कॉर्ट के साथ यात्रा कर रहा है

  • 75 फीसदी एसी-2, प्रथम श्रेणी एवं चेयर कार
  • 50 फीसदी एसी-1 एवं एसी-2 में
  • एक एस्कार्ट भी रियायत के पात्र हैं।

हृदय रोगी सर्जरी के लिए अकेले या एस्कॉर्ट के साथ यात्रा कर रहा है। किडनी रोगी सर्जरी या ट्रांसप्लांट के लिए अकेले या एस्कॉर्ट के साथ यात्रा कर रहा है। हीमोफीलिया रोगी या उपचार या आवधिक जांच के लिए एस्कॉर्ट के साथ यात्रा कर रहा है।

  • 75 फीसदी द्वितीय, शयनयान, प्रथम श्रेणी एवं एसी-3 चेयर कार
  • एक एस्कार्ट भी रियायत के पात्र है।

टीबी रोगी अकेले या उपचार, आवधिक जांच के लिए एस्कॉर्ट के साथ यात्रा कर रहा है

  • 75 फीसदी द्वितीय, शयनयान, प्रथम श्रेणी
  • एक एस्कार्ट भी रियायत के पात्र है।

क्षय रोगी अकेले या उपचार, आवधिक जांच के लिए एस्कॉर्ट के साथ यात्रा कर रहा है। एड्स रोगी उपचारया आवधिक जांच के लिए यात्रा कर रहा है। तो उसे द्वितीय श्रेणी में 50 फीसदी की रियायत मिलती है। वरिष्ठ महिला को 50 एवं वरिष्ठ पुरुष नागरिक को 40 फीसदी तक की छूट। वरिष्ठ थर्ड जेंडर के यात्रियों जो किसी भी उद्देश्य के लिए अकेले या एस्कार्ट के साथ यात्रा कर रहे हों तो उन्हें 40 फीसदी तक छूट मिलती है।

Share this: