गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू की तत्परता से गुरुघासीदास विश्वविद्यालय की गोल्ड मेडलिस्ट छात्रा का मिली: झांसी में है सुरक्षित, वापसी के लिए पुलिस हुई रवाना

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू की तत्परता से गुरुघासीदास विश्वविद्यालय की गोल्ड मेडलिस्ट छात्रा मिली: झांसी में है सुरक्षित, वापसी के लिए पुलिस हुई रवाना

Bilaspur

बिलासपुर। गुरुघासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय की गोल्ड मेडलिस्ट टॉपर छात्रा रामेश्वरी राव मराठा का आखिर पता चल ही गया। वह मध्यप्रदेश के झांसी में सकुशल है। छात्रा की खोज करने में आरपीएफ की महत्वपूर्ण भूमिका रही। बिलासपुर एसपी प्रशांत अग्रवाल ने इस बात की पुष्टि की है। एसपी के निर्देश पर बिलासपुर की एक टीम छात्रा को सकुशल वापस लाने झांसी रवाना हो गई है।

बता दें कि रविवार को लापता छात्रा के मामले में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल को विशेष निर्देश जारी किए थे। उन्होंने छात्रा की तलाश पूरी गंभीरता से करने के निर्देश दिए थे। गृहमंत्री के निर्देश के बाद पुलिस ने अपनी कार्रवाई तेज की। लापता होने के बाद छात्रा के मोबाइन लोकेशन ट्रेस किया गया और आसपास के जिलों सहित रेलवे पुलिस फोर्स व जीआरपी को भी अलर्ट किया गया। आखिरकार पुलिस की मेहनत रंग लाई और आरपीएफ की मदद से रामेश्वरी को खोज लिया गया। फिलहाल वह झांसी में सकुशल है और बिलासपुर पुलिस की टीम उसे लेने रवाना हो चुकी है।

यह था पूरा मामला

गौरतलब है गुरुघासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह के लिए शनिवार को कार्यक्रम का रिहर्सल किया गया। जिसमें लॉ की पूर्व छात्रा रामेश्वरी राव मराठा ने हिस्सा लिया था। कार्यक्रम रिहर्सल के बाद शाम 4 बजे रामेश्वरी ने परिजनों को अपने घर वापस लौटने की सूचना दी लेकिन वह घर नही पहुंची। कई घंटो तक रामेश्वरी के वापस नहीं लौटने पर परिजनों ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। गोल्ड मेडलिस्ट छात्रा के लापता होने खबर शहर में आग की तरह फैली।

Share this: